Amritvani Part 7 (03) Kabira kabse bhaya bairagi

July 7, 2015
00:0000:00

सांसारिक से लेकर स्वर्ग तक के प्रलोभनों तथा उन वस्तुओं में आसक्ति का भान न हो तभी सच्चा वैराग्य है | संस्कारों के उन्मूलन तथा प्रभु की प्राप्ति ही योग की पूर्णता है |

Facebook Comments: